Saturday, 11 July 2009

तेरे इन्तेज़ार में

तेरे इन्तेज़ार ने क्यूँ मुझको इतना तडपाया
तेरे दिल को भी जाने कैसे सुकून आया !
तेरी यादों से अपने दिल को मैंने बहेलाया
तेरे दिल को भी जाने कैसे सुकून आया !